उत्तर प्रदेश ने उत्तराखंड को सौंपी 37 नहरें

देहरादून : केंद्र के साथ ही उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भी भाजपा की सरकार होने का असर नजर आने लगा है। अभी उत्तर प्रदेश में सरकार गठन को एक सप्ताह भी नहीं गुजरा और पिछले सोलह साल से लंबित परिसंपत्तियों के बंटवारे के मुद्दे पर बात आगे बढ़ती दिखाई दे रही है। उत्तर प्रदेश
 | 
देहरादून : केंद्र के साथ ही उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भी भाजपा की सरकार होने का असर नजर आने लगा है। अभी उत्तर प्रदेश में सरकार गठन को एक सप्ताह भी नहीं गुजरा और पिछले सोलह साल से लंबित परिसंपत्तियों के बंटवारे के मुद्दे पर बात आगे बढ़ती दिखाई दे रही है। उत्तर प्रदेश ने हरिद्वार जिले की सिंचाई विभाग की 28 नहरों के बाद अब ऊधमसिंह नगर जिले की नौ, यानी कुल 37 नहरें उत्तराखंड को हस्तांतरित कर दी हैं।
दो दिन पूर्व उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के अधिकारियों के बीच बनी सहमति के बाद हरिद्वार जिले की सिंचाई विभाग के अंतर्गत आने वाली 28 नहरें उत्तर प्रदेश द्वारा उत्तराखंड को सौंपी जा चुकी हैं।
अब इसी क्रम में ऊधमसिंह नगर जिले की नौ नहरें भी उत्तर प्रदेश ने उत्तराखंड को हस्तांतरित कर दी हैं। ऊधमसिंह नगर जिले के अंतर्गत आने वाली नहरें हैं धर्मपुर नहर, राजपुर नहर, उमरपुर नहर, अंगतपुर नहर, देवरिया नहर, प्राग नहर, भांगा नहर, झनकट नहर और सड़सैया नहर। गौरतलब है कि हरिद्वार जिले की 28 नहरों के हस्तांतरण पर दो दिन पहले मुहर लग चुकी है।
सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने उनके कार्यभार संभालने से पहले ही करीब बड़ी संख्या में नहरें उत्तराखंड को सौंप दी हैं। उत्तर प्रदेश, केंद्र और राज्य में भाजपा की सरकार होने से परिसंपत्तियों के मामले तेजी से हल होंगे। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का इसके लिए आभार जताया।