टीएचडीसी के अध्घ्यक्ष व प्रबन्घ्ध निदेशक ने उत्घ्तराखण्घ्ड के मुख्घ्यमंत्री से की मुलाकात

ऋषिकेश। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड (टीएचडीसीआईएल) के अध्घ्यक्ष एवं प्रबन्घ्ध निदेशक डी.वी. सिंह ने उत्घ्तराखण्घ्ड के मुख्घ्यमंत्री त्रिवेन्घ्द्र सिंह रावत से सचिवालय में मुलाकात की। इस अवसर पर उनके साथ निदेशक (कार्मिक) एस. के. बिस्घ्वास व उप महाप्रबन्घ्धक, ए.के. चावला भी उपस्स्थित रहे। मुख्घ्यमंत्री के साथ यह मुलाकात सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुई। इस दौरान उत्घ्तराखण्घ्ड में
 | 
टीएचडीसी के अध्घ्यक्ष व प्रबन्घ्ध निदेशक ने उत्घ्तराखण्घ्ड के मुख्घ्यमंत्री से की मुलाकात

ऋषिकेश। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड (टीएचडीसीआईएल) के अध्घ्यक्ष एवं प्रबन्घ्ध निदेशक डी.वी. सिंह ने उत्घ्तराखण्घ्ड के मुख्घ्यमंत्री त्रिवेन्घ्द्र सिंह रावत से सचिवालय में मुलाकात की। इस अवसर पर उनके साथ निदेशक (कार्मिक) एस. के. बिस्घ्वास व उप महाप्रबन्घ्धक, ए.के. चावला भी उपस्स्थित रहे।
मुख्घ्यमंत्री के साथ यह मुलाकात सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुई। इस दौरान उत्घ्तराखण्घ्ड में टीएचडीसीआईएल की निर्माणाधीन परियोजनायें यथा- टिहरी पम्घ्प स्घ्टोरेज प्घ्लांट (1000 मेगा वाट), विष्घ्णुगाड पीपलकोटी हाइड्रो इलैक्घ्ट्रिक प्रोजेक्घ्ट (444 मेगा वाट) तथा बोकांक बेलिंग हाइड्रो इलैक्घ्ट्रिक प्रोजेक्घ्ट (330 मेगा वाट) आदि पर चर्चा हुई। इसके साथ ही उत्घ्तराखण्घ्ड में भावी जल विद्युत परियोजनाओं के विकास पर भी चर्चा की गयी।

टिहरी व कोटेश्घ्वर जल विद्युत परियोजनाओं तथा गुजरात के पाटन व द्वारका में पवन ऊर्जा परियोजनाओं की कमीशनिंग के उपरांत टीएचडीसी की कुल संस्घ्थापित क्षमता 1513 मेगावाट हो गयी है। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड देश का प्रमुख विद्युत उत्घ्पादक संस्घ्थान होने के साथ ही एक मिनी-रत्घ्न (कटेग्री-प्रथम) व शेड्यूल च्एज् दर्जा प्राप्घ्त संस्घ्थान है।