ठगी का आरोपी कंप्यूटर सेंटर संचालक गिरफ्तार

देहरादून : सचिवालय में नौकरी दिलाने के नाम पर युवक से पांच लाख रुपये ठगने के आरोपी को कोतवाली पुलिस ने शनिवार को दबोच लिया। आरोपी विनय भट्ट कंप्यूटर सेंटर संचालक निकला। पूछताछ में पता चला कि उसने कई लोगों से नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों ठगे हैं। आरोपी विनय भट्ट पुत्र गिरीश चंद्र
 | 

देहरादून : सचिवालय में नौकरी दिलाने के नाम पर युवक से पांच लाख रुपये ठगने के आरोपी को कोतवाली पुलिस ने शनिवार को दबोच लिया। आरोपी विनय भट्ट कंप्यूटर सेंटर संचालक निकला। पूछताछ में पता चला कि उसने कई लोगों से नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों ठगे हैं।

आरोपी विनय भट्ट पुत्र गिरीश चंद्र भट्ट मूल रूप से ग्राम सुंदर कांडीखाल पट्टी लंगूर कोटद्वार पौड़ी का रहने वाला है और दून में साईं बाबा एनक्लेव में रहता है। उसने यहां हाल ही में 26 लाख रुपये का फ्लैट खरीदा। बीएससी पास विनय कोतवाली क्षेत्र के विद्या विहार में कंप्यूटर सेंटर चलाता है। शुक्रवार को अरविंद कंसवाल निवासी चांदपुर होरावाला ने विनय पर सचिवालय में नौकरी दिलाने का झांसा देकर पांच लाख रुपये ठगने का आरोप लगाया था।

विनय के घर से पुलिस को राजनेताओं के साथ खिंचवाई गई कई फोटो मिली हैं। बताया जा रहा है कि विनय यही फोटो दिखाकर लोगों को विश्वास दिलाता था कि उसकी पहुंच काफी ऊपर तक है। इससे लोग आसानी से उसके झांसे में आ जाते थे। इन दिनों विनय का कंप्यूटर सेंटर बंद चल रहा है।

विधानसभा व सचिवालय के पास भी मिले 

विनय ने विधानसभा और सचिवालय में प्रवेश करने के लिए पास भी बनवा रखा था। पुलिस ने दोनों पासों को जब्त कर लिया है। पुलिस उसके सचिवालय के संपर्कों के बारे में पता लगा रही है।

कई लोगों को ठग चुका है विनय

विनय ने अरविंद के अलावा भी कई लोगों को नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगा। एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने बताया कि अब तक की जांच में टिंकू निवासी रुद्रपुर विकासनगर, सानू निवासी मांडूवाला, महेंद्र सिंह निवासी चमोली, सत्येंद्र सिंह व रविंद्र बिष्ट निवासी कोटद्वार से भी लाखों की ठगी कर चुका है।