सभी छात्रछात्राएं प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का आवेदन पत्र भरे तथा योजना का लाभ उठाए: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को डोईवाला में एक स्थानीय वेडिग प्वाइंट में शहीद मेजर दुर्गामल्ल के 74वें बलिदान दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि देहरादून से ऋषिकेश के लिए जाने वाली तथा हरिद्वार से ऋषिकेश को आने वाली सभी रोडवेज बसे एम्स ऋषिकेश से होते हुए जाएगी, इसके साथ
 | 
सभी छात्रछात्राएं प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का आवेदन पत्र भरे तथा योजना का लाभ उठाए: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को डोईवाला में एक स्थानीय वेडिग प्वाइंट में शहीद मेजर दुर्गामल्ल के 74वें बलिदान दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि देहरादून से ऋषिकेश के लिए जाने वाली तथा हरिद्वार से ऋषिकेश को आने वाली सभी रोडवेज बसे एम्स ऋषिकेश से होते हुए जाएगी, इसके साथ ही एम्स ऋषिकेश में मरीजो के साथ आने वाले तीमारदारों के रहने हेतु 500 बेड की आवासीय व्यवस्था की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि डोईवालाखता रोड शहीद मेजर दुर्गामल्ल के नाम से जानी जायेगी। डोईवाला डिग्री काॅलेज में शहीद मेजर दुर्गामल्ल की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने घोषणा की कि अब कोई भी जनसमस्या सम्बन्धित विभागीय मंत्रियो द्वारा एक निर्धारित दिन उनके कार्यालय में सुनी जाएगी। मंत्रियो द्वारा अपने विभागों से सम्बन्धित जन समस्या की सुनवाई तथा निपटान त्वरित तथा प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा। जनता को जन सुनवाई हेतु मंत्री के कार्यालय में जाने हेतु किसी पब्लिक पास की आवश्यकता नही होगी। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने यह भी घोषणा की कि हाल ही में ऋषिकेश में हुई घटना में मृतक बालिकाओं की माता को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से 2 लाख रूपये की सहायता राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने राज्य भर के सभी डिग्री काॅलेज छात्रछात्राओं से अपील की है कि प्रधानमंत्री की स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्र्तगत डिग्री काॅलेज के छात्रों को 2 लाख तक की बीमा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी छात्रछात्राएं प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का आवेदन पत्र भरे तथा योजना का लाभ उठाए। शहीद मेजर दुर्गामल्ल को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि शहीद किसी जाति विशेष या समुदाय विशेष के नहीं होते बल्कि उनका बलिदान और त्याग सम्पूर्ण समाज या देश के लिए होता है। यह मात्र गोख्र्याली समुदाय का ही कार्यक्रम नही है बल्कि यह हर देशभक्त का कार्यक्रम है। हमारे शहीद देश के लिए अपना सर्वाेच्च बलिदान देते है। उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है कि हमारे राज्य से अनेक ऐसे वीर है जिन्हें परमवीर चक्र, शौर्य चक्र जैसे तमाम सर्वोच्च पुरस्कार मिल चुके है। हम उन तमाम ज्ञातअज्ञात वीरों को नमन करते है। उन्होंने कहा कि जिस देश में वीरो की पूजा बन्द हो जाती है वह देश समाप्त हो जाता है। यदि देश को जीवित तथा मजबूत रखना है तो हमें अपने वीरों को याद रखना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे वीर केशरी चन्द का मेला नागथात में भव्यता के साथ लगता है उसी प्रकार शहीद दुर्गामल्ल से सम्बन्धित उत्सव जोश और उत्साह के साथ मनाये जाने चाहिए। इस कार्य हेतु एक कमेटी का गठन किया जाय। हमें ध्यान रखना होगा कि यह मात्र एक सरकारी कार्यक्रम बन कर न रह जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि निश्चित रूप से हम इसे वृदह रूप देगे। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने बताया कि गत दिवस नई दिल्ली में नेपाल के प्रधानमंत्री श्री शेर बहादुर देउबा तथा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मध्य पंचेश्वर बांध, शारदा बैराज तथा धारचूला जैसे विषयों पर चर्चा हुई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने हाल ही में कारगिल में शहीद हुए बंजारावाला निवासी लांस नायक जीत बहादुर थापा की पत्नी श्रीमती रानी थापा को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। गोख्र्याली समाज द्वारा संसद भवन में शहीद दुर्गा मल्ल की प्रतिमा की स्थापना हेतु प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी तथा मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का आभार व्यक्त किया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नगर पालिका परिसर डोईवाला में शहीद मेजर दुर्गामल्ल की प्रतिमा का अनावरण किया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचन्द अग्रवाल तथा शहीद मेजर दुर्गामल्ल के भतीजे श्री राजेन्द्र मल्ल तथा अन्य गणमान्य उपस्थित थे।