अरुण जेटली ने मसूरी की आर्थिकी और जीएसटी के प्रभाव के बारे में जाना

मसूरी : मसूरी विधायक गणेश जोशी ने आज दोपहर केंद्रीय वित्त एवं रक्षा मंत्री अरुण जेटली से होटल जेडब्ल्यू मैरिएट में भाजपा मण्डलाध्यक्ष मोहन पेटवाल के साथ शिष्टाचार भेंट की और उनको फूलों का गुलदस्ता भेंट किया। इस दौरान अरुण जेटली ने विधायक गणेश जोशी व मण्डलाध्यक्ष मोहन पेटवाल से मसूरी की आर्थिकी के बारे
 | 

मसूरी : मसूरी विधायक गणेश जोशी ने आज दोपहर केंद्रीय वित्त एवं रक्षा मंत्री अरुण जेटली से होटल जेडब्ल्‍यू मैरिएट में भाजपा मण्डलाध्यक्ष मोहन पेटवाल के साथ शिष्टाचार भेंट की और उनको फूलों का गुलदस्ता भेंट किया। इस दौरान अरुण जेटली ने विधायक गणेश जोशी व मण्डलाध्यक्ष मोहन पेटवाल से मसूरी की आर्थिकी के बारे में पूछा कि यहां के व्यवसाइयों के आय के मुख्य श्रोत क्या हैं और यहां पर किस प्रकार का व्यापार होता है। अरूण जेटली ने यह जानने की कोशिश कि जीएसटी लागू होने के बाद यहां पर इसका क्या प्रभाव पड़ा है।

विधायक जोशी ने अरूण जेटली को बताया कि मसूरी की आर्थिकी पूर्ण रूप से पर्यटन व्यवसाय पर आधारित है। यहां पर ढाई सौ से अधिक होटल व गेस्ट हाउस हैं। पर्यटन प्रभावित होता है तो यहां की आर्थिकी भी डगमगा जाती है। मण्डलाध्यक्ष मोहन पेटवाल ने वित्तमंत्री अरूण जेटली को बताया कि व्यापारी वर्ग पहले जीएसटी को लेकर असमंजस की स्थिति में थे, लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद धीरे धीरे इसकी बारीकियों को समझ रहे हैं। वित्त मंत्री अरूण जेटली ने मीडियाकर्मियों की वार्ता करने के निवेदन को हाथ जोड़कर टाल दिया। इस मौके पर पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल व भाजपा नेत्री मीरा सकलानी भी मौजूद थे।

वित्तमंत्री अरूण जेटली बीते बुधवार शाम को सपत्नीक मसूरी पहुंचे थे और कैम्पटी के समीप होटल जेडब्ल्‍यू मैरिएट में ठहरे थे। आज सुबह उन्होंने लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में प्रशिक्षु आईएएस अधिकारियों को संबोधित किया और वापस होटल जेडब्ल्‍यू मैरिएट लौट आए।