उत्तराखंड में भारी बारिश की चेतावनी, चलेंगी तेज हवाएं

देहरादून : मौसम विभाग ने आज शाम से अगले 48 घंटों तक पिथौरागढ़, नैनीताल, रुद्रप्रयाग व चमोली में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इसके साथ ही इस अवधि में उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों में ओलावृष्टि के साथ ही तेज हवाएं (70 से 80 किलोमीटर प्रतिघंटा) चलने का अनुमान लगाया गया है। मौसम विभाग
 | 

देहरादून : मौसम विभाग ने आज शाम से अगले 48 घंटों तक पिथौरागढ़, नैनीताल, रुद्रप्रयाग व चमोली में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इसके साथ ही इस अवधि में उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों में ओलावृष्टि के साथ ही तेज हवाएं (70 से 80 किलोमीटर प्रतिघंटा) चलने का अनुमान लगाया गया है।

मौसम विभाग के अनुसार भारी बारिश वाले जिलों के अलावा अन्य स्थानों में हल्की से मध्य स्तर की बारिश होने की संभावना है। वहीं, कई स्थानों पर बादल भी छाए रह सकते हैं। देहरादून में आमतौर पर बादल छाए रहेंगे। शाम को बारिश या झक्कड़ के साथ तेज हवाएं चल सकती हैं।

पहाड़ों में बारिश, मैदान में गर्म हवाओं के थपेड़े

सोमवार को जहां चारधाम समेत तमाम पर्वतीय क्षेत्रों में झमाझम बारिश हुई, वहीं मैदानी इलाकों में गर्म हवाओं के थपेड़ों से लोग परेशान रहे। इससे मैदानी क्षेत्रों में अधिकतम तापमान 42.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

वहीं, बारिश से हुए भूस्खलन से गंगोत्री व यमुनोत्री राजमार्ग एक घंटे बाधित रहा। जबकि रुद्रप्रयाग व पिथौरागढ़ में बारिश के बीच चले अंधड़ से पेड़ व पोल गिरने से जगह-जगह मार्ग बाधित रहे।

राजधानी देहरादून समेत हरिद्वार, रुड़की, कोटद्वार, हल्द्वानी, पंतनगर जैसे शहर सूरज की तपती गर्मी से झुलसते रहे। दिनभर चले गर्म हवाओं के थपेड़ों से लोग बेहाल रहे और दोपहर तक अधिकांश सड़कों पर आवाजाही अपेक्षाकृत काफी कम हो गई थी।

उधर, उत्तरकाशी में बारिश से गंगोत्री व यमुनोत्री राजमार्ग पर मलबा आ गिरने से यात्रा बाधित हो गई। इसे हटाने में करीब एक घंटे का समय लग गया और इसके बाद यात्रा को सुचारू किया जा सका। रुद्रप्रयाग में बारिश के बीच चले अंधड़ से राजमार्ग पर कुछ स्थानों पर आधा दर्जन पेड़ व पोल गिर गए थे। इससे बदरीनाथ व केदारनाथ यात्रा बीच-बीच में आंशिक रूप से बाधित होती रही। उधर, कुमाऊं मंडल के पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय में बारिश से आधा दर्जन से अधिक पेड़ उखड़ गए। पेड़ों की चपेट में आने से एक मकान व एंबुलेंस सहित पांच वाहन क्षतिग्रस्त हो गए गए।

आकाशीय बिजली से तीन महिलाएं झुलसी

कुमाऊं मंडल के मुनस्यारी तहसील के दूरस्थ गांव गूटी में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से तीन महिलाएं झुलस गईं। बारिश से हुए भूस्खलन से नाचली-बांसबगड़ मार्ग के मार्ग बंद होने से झुलसी महिलाओं को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाने में भी घंटों लग गए।