कल खुलेंगे गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट, रवाना होगी गंगा की डोली

उत्तरकाशी : आर्मी बैंड की धुन तथा पारंपरिक वाद्य यंत्रों के साथ आज मां गंगा की डोली उनके शीतकालीन प्रवास मुखीमठ (मुखवा) से दोपहर ठीक एक बजे गंगोत्री धाम के लिए रवाना होगी। कल गंगोत्री और यमुनोत्री धामों के मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे। वहीं, तीन मई को केदारनाथ व छह मई को बदरीनाथ
 | 

उत्तरकाशी : आर्मी बैंड की धुन तथा पारंपरिक वाद्य यंत्रों के साथ आज मां गंगा की डोली उनके शीतकालीन प्रवास मुखीमठ (मुखवा) से दोपहर ठीक एक बजे गंगोत्री धाम के लिए रवाना होगी। कल गंगोत्री और यमुनोत्री धामों के मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे। वहीं, तीन मई को केदारनाथ व छह मई को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे।

गंगा की डोली के साथ यात्रा में स्थानीय लोगों के साथ देश-विदेश के श्रद्धालु भी शामिल होने के लिए धराली, मुखवा, हर्षिल पहुंच चुके हैं। गंगा की डोली विदाई को लेकर मुखवा में सुबह से ही पूजा अर्चना चल रही है। इसके साथ ही मां गंगा की मूर्ति को सजाने का काम भी शुरू हो गया है।

गंगा की डोली आज की रात को भैरव घाटी में स्थित भैरव मंदिर में रात्रि विश्राम करेगी। जहां से कल सुबह गंगोत्री धाम के लिए गंगा की डोली रवाना होगी तथा दोपहर में गंगोत्री धाम पहुंचेगी। जहां हवन, पूजा-अर्चना के बाद वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ दोपहर 12:15 बजे श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे। कल ही यमुनोत्री धाम के कपाट भी खुलेंगे।