पिथौरागढ़ में कार पर गिरा मलबा, पांच की मौत; दो घायल

पिथौरागढ़ : कुमाऊं में भारी बारिश से लोगों पर मुसीबतों के पहाड़ टूटने लगे हैं। पिथौरागढ़ के धारचूला क्षेत्र में चलती कार पर पहाड़ी ढह जाने से कार सवार पांच लोग जिंदा दफन हो गए, जबकि दो घायलों को मलबे से बाहर निकाला गया। चार मृतकों व घायलों की पहचान सीमावर्ती राष्ट्र नेपाल के दार्चूला
 | 

पिथौरागढ़ : कुमाऊं में भारी बारिश से लोगों पर मुसीबतों के पहाड़ टूटने लगे हैं। पिथौरागढ़ के धारचूला क्षेत्र में चलती कार पर पहाड़ी ढह जाने से कार सवार पांच लोग जिंदा दफन हो गए, जबकि दो घायलों को मलबे से बाहर निकाला गया। चार मृतकों व घायलों की पहचान सीमावर्ती राष्ट्र नेपाल के दार्चूला कस्बे के निवासियों के रूप में की गई है। एक मृतक धारचूला का निवासी था।

गुरुवार दोपहर टैक्सी में चलने वाली आल्टो कार (यूके05टीए/1281) ऐलागाड़ से सवारी लेकर धारचूला (पिथौरागढ़)को आ रही थी। धारचूला नगर के शीर्ष में स्थित टनकपुर-तवाघाट हाईवे पर घटखोला के पास रांथी के लिए निर्माणाधीन सड़क का मलबा व पहाड़ी का एक हिस्सा ढह गया। कार भारी मलबे के नीचे दब गई।

कार में सात लोग सवार थे। घटना घटने से चंद मिनट पहले ही इस स्थान से वापस लौट रहा आदि कैलास यात्रा का चौथा दल गुजरा था। यह दल बाल-बाल बचा। घटना घटते ही मौके पर राजस्व दल और एसडीआरएफ की टीम पहुंची। परंतु वहां पर पहाड़ की तरफ से गिर रहे मलबे को देखते हुए खोज एवं बचाव का दावा करने वाले हाथ पर हाथ धरे खड़े रहे। तब स्थानीय लोगों ने जान पर खेलते हुए बचाव अभियान चलाया।

मलबा हटाने पर दो हिस्सों बंट चुकी कार से सवार हीरा देवी (35) पत्नी दिल बहादुर निवासी भिड़ जिला दार्चुला नेपाल, उसका पुत्र उमेश बम और पुत्री प्रियंका, झुसाल सिंह पुत्र कल्याण सिंह और चालक विनोद कुमार पुत्र बिहारी लाल निवासी ग्राम जुम्मा तहसील धारचूला जिला पिथौरागढ़ के शव निकाले गए, जबकि डमरा देवी(28) पत्नी नर बहादुर , माधवी(30) पत्नी लोक बम निवासी भिड़ दार्चुला को घायलावस्था में मलबे से बाहर निकाला गया।

दोनों घायलों को धारचूला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। शवों के पोस्टमार्टम के लिए एसडीएम ने जिला मुख्यालय से चिकित्सकों की टीम बुलाई है। घटना के बाद मार्ग को आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है। पहाड़ से गिर रहे पत्थरों को देखते हुए पुलिस तैनात की गई है। क्षेत्र में भारी बारिश जारी होने से जनता सहमी है।

बारिश से गांव में हो रहा है भूस्‍खलन

लगातार बारिश से तहसील मुनस्यारी के मूर्ती नापड़ गांव में भूस्खलन हो रहा, जबकि सात मकान खतरे की जद में आ गए हैं। परिवारजनों ने मकान खाली कर दिए हैं। संपर्क मार्ग और पेयजल लाइन ध्वस्त हो गई हैं। भारी बारिश से हुए कटाव से मान सिंह, जगत सिंह, दुर्गा सिंह, हयात सिंह, रमेश राम और दीपक सिंह के मकान खतरे की जद में है। बमनगांव में तीन मकान सड़क धंसने से खतरे की जद में आ गए हैं।

मार्ग बंद होने से एसडीआर-एसएसबी के जवान यात्री के शव के साथ फंसे

आदि कैलास यात्रा के चौथे दल के मृत यात्री का शव मार्ग बंद होने से अभी तक आधार शिविर धारचूला नहीं लाया जा सका है। तवाघाट गर्बाधार मार्ग में वर्तिगाड के पास मार्ग बंद होने से एसडीआर-एसएसबी के जवान यात्री के शव के साथ फंसे है। इधर, तहसील मुख्यालय से एसडीएम आरके पांडेय के नेतृत्व में राजस्व दल भी वर्तीगाड को रवाना हुआ है। लगातार भारी बारिश के चलते सड़क पर पहाड़ से लगातार मलबा गिर रहा है। जिस कारण बुधवार सायं से शव के साथ एसडीआरएफ और एसएसबी जवान फंसे हैं। मालूम हो कि बुधवार को आदि कैलास से लौट रहे चौथे दल के मुम्बई निवासी शयम भाष्कर कोहली की मालपा के पास अचानक मौत हो गई थी।