कोच ने तराशा तो रोजी ने नेशनल वॉक रेस में जीता सोना

देहरादून: 16वीं फेडरेशन कप नेशनल जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में उत्तराखंड की रोजी पटेल ने पदक जीत खाता खोला। रोजी ने चैंपियनशिप की 10 हजार मीटर वॉक रेस में स्वर्ण पदक जीता है। रोजी का यह दूसरा राष्ट्रीय इवेंट है, जिसमें वे राज्य का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। कोयंबटूर, तमिलनाडु में शुक्रवार से चैंपियनशिप का शुभारंभ हुआ।
 | 
कोच ने तराशा तो रोजी ने नेशनल वॉक रेस में जीता सोना

देहरादून: 16वीं फेडरेशन कप नेशनल जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में उत्तराखंड की रोजी पटेल ने पदक जीत खाता खोला। रोजी ने चैंपियनशिप की 10 हजार मीटर वॉक रेस में स्वर्ण पदक जीता है। रोजी का यह दूसरा राष्ट्रीय इवेंट है, जिसमें वे राज्य का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। कोयंबटूर, तमिलनाडु में शुक्रवार से चैंपियनशिप का शुभारंभ हुआ।

उत्तराखंड की धाविका रोजी पटेल ने बालिका अंडर-20 वर्ग की 10 हजार मीटर वॉक रेस में 51:44:52 मिनट का समय निकालते हुए प्रथम हासिल किया। राष्ट्रीय स्तर पर वॉक रेस में रोजी का यह पहला पदक है। इससे पहले वे दिल्ली में हुई नेशनल वॉक रेसिंग चैंपियनिशप में चौथा स्थान हासिल कर चुकी हैं।

मूलरूप से उत्तर प्रदेश की रहने वाली रोजी को धाविका बनने की प्रेरणा अपने बड़े भाई इंद्रजीत पटेल से मिली, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर के एथलीट रहे हैं। वर्तमान में वह महाराणा प्रताप स्पोर्टस कॉलेज के एथलेटिक्स एक्सीलेंसी सेंटर में कोच अनूप बिष्ट से प्रशिक्षण ले रही हैं।

आठ महीने पहले रोजी ने बदला इवेंट

17 वर्षीय रोजी पटेल ने महज तीन साल पहले ही एथलेटिक्स की स्पर्धाओं में भाग लेना शुरू किया। मध्यम-लंबी दूरी की दौड़ में भाग लेने वाली रोजी ने जिला स्तर से लेकर राज्य स्तर पर तो पदक जीते, लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर कोई सफलता नहीं मिली। एथलेटिक्स प्रशिक्षक अनूप बिष्ट ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और उन्हें वॉक रेस के लिए प्रेरित किया