पूर्व MLA आर्य ने दिया आंदोलरनरत प्रधानों को समर्थन

 | 
पूर्व MLA आर्य ने दिया आंदोलरनरत प्रधानों को समर्थन


नई टिहरी: 12 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलनरत जिले के प्रधानों को घनसाली के पूर्व MLA भीम लाल आर्य ने समर्थन देते हुए कहा कि प्रधानों की मांगों पर सरकार को गौर करना चाहिए। प्रधानों ने भी सरकार पर मांगों को लेकर कोताही बरतने का आरोप लगाया है। इन दिनों जनपद टिहरी गढ़वाल के सभी नौ ब्लाकों में प्रधान अपनी मांगों को लेकर आंदोलरनरत हैं और ब्लाक व जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रधानों का कहना है कि मांगें न माने जाने पर वे राजधानी देहरादून में उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। प्रधानों को समर्थन देते हुये पूर्व विधायक आर्य ने कहा कि ग्राम प्रधानों की मांगे ग्राम वासियों के हित में है।

जैसे मनरेगा में प्रति जॉब कार्ड श्रमिक दिवस 100 से बढ़ाकर 200 कर दिया जाए। मनरेगा मजदूरों की मजदूरी ₹204 से 350 प्रतिदिन की जाए। ग्राम वासियों को रोजगार देकर आर्थिक स्थिति मजबूत की जाय। ग्राम प्रधानों का मानदेय ₹10 हजार रुपये प्रतिमाह किया जाए। सीएससी सेंटर को न्याय पंचायत के बजाय ग्राम पंचायत स्तर पर खोला जाए। लगभग 2 वर्षों से मांगों को लेकर कोरे आश्वासन दिए जा रहे हैं। मांगों का निराकरण नहीं किया जा रहा है। प्रदर्शन करने वाले प्रधानों में प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष रविंद्र राणा, सुंदर सिंह रावत, शैला नेगी, अरविंद, धन सिंह सजवाण, राम लाल गैरोला, सूरज चंद रमोला, सपना रावत, उषा, नरेंद्र, राजवीर, श्रीपाल रावत, परमानंद, राजेश, दिनेश जोशी, मुनी, दीपिका, शंकुतला, दीवान पडियार, सुरेश राणा, मोहन डोभाल, वीरेंद्र अग्निहोत्री, बीना नेगी, विजयलक्ष्मी खंडूरी, विकास जोशी, विनोद भट्ट, महावीर सेनवाल, जगमोहन चौहान, जयपाल चौहान, सुभाषदास सैलवान, मुकेश दास आदि शामिल रहे।