SMART CITY में पर्यटन गतिविधियों के लिए भी स्थान चिन्हित होः महाराज

 | 
SMART CITY में पर्यटन गतिविधियों के लिए भी स्थान चिन्हित होः महाराज  

देहरादून:  प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने मंगलवार को पर्यटन एवं SMART CITY के अधिकारियों के साथ बैठक कर देहरादून स्मार्ट सिटी को पर्यटन के अनुरूप विकसित करने पर मंथन किया।

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने मंगलवार को उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद में SMART CITY एवं पर्यटन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर स्मार्ट सिटी देहरादून को पर्यटन के अनुरूप विकसित करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस मौके पर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से पर्यटन मंत्री को अभी तक किये गये कार्यों से अवगत कराया।

बैठक के दौरान सतपाल महाराज ने SMART CITY अधिकारियों को सुझाव दिया कि स्मार्ट सिटी में उत्तराखंड के शहीदों के समर्पण को देखते हुए उनकी याद में एक दीवार बननी चाहिए, ताकि लोग उनके बलिदान से प्रेरणा ले सकें। श्री महाराज ने कहा कि हम चाहते हैं कि देहरादून के कुछ मैदान ऐसे हैं जिन्हें पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जा सकता है। उन्होने ऐसे मैदानों को पर्यटन विभाग को दिये जाने को भी कहा ताकि उसे पर्यटन गतिविधियों के लिए विकसित किया जा सके। श्री महाराज ने कहा कि दुनिया की हर स्मार्ट सिटी के अंदर पर्यटन गतिविधियों के लिए एक स्थान चिन्हित होता है।

जहां लोग घूमते हैं और पर्यटन का लुफ्त उठाते हैं। हम चाहते हैं कि देहरादून SMART CITY के अंदर भी पर्यटकों के लिए एक ऐसा ही स्थान बने जहां लोग अपनी संस्कृति की झलक से रूबरू हो सकें। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि ओएनजीसी हेलीपैड की देख रेख का जिम्मा पर्यटन विभाग को दिया जाए। उन्होंने कहा कि केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट से भी उन्होंने इस संबंध में अनुरोध किया है।

हम चाहते हैं कि पर्यटकों के लिए वहां से मसूरी के लिए हेलीकॉप्टर का संचालन किया जा सके। बैठक में स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंसी के एजीएम तकनीकी जगमोहन सिंह चौहान, प्रोजेक्ट मैनेजर कृष्ण पल्लव चमोला, एजीएम इलेक्ट्रॉनिक आशीष दयाल सक्सेना, जेई सिविल चिन्मय सिंह, अपर सचिव पर्यटन युगल किशोर पंत, अवस्थापना निदेशक (पर्यटन) दीपक खंडूरी, अधीक्षण अभियंता शरद श्रीवास्तव सहित अनेक अधिकारी मौजूद।