उत्तराखंड में बारिश का दौर जारी, भूस्खलन से यमुनोत्री हाईवे बंद; मकान ध्वस्त

देहरादून: उत्तराखंड में बारिश का दौर जारी रहने से आफत भी आने लगी है। पिथौरागढ़ में एक मकान ध्वस्त हो गया, वहीं, युमनोत्री हाईवे भूस्खलन से बंद हो गया। मौसम विभाग के मुताबिक बारिश का दौर अभी जारी रहेगा। कुमाऊं में तेज बारिश की चेतावनी जारी की गई है। उत्तराखंड में करवट बदलते मौसम से
 | 
उत्तराखंड में बारिश का दौर जारी, भूस्खलन से यमुनोत्री हाईवे बंद; मकान ध्वस्त

देहरादून: उत्तराखंड में बारिश का दौर जारी रहने से आफत भी आने लगी है। पिथौरागढ़ में एक मकान ध्वस्त हो गया, वहीं, युमनोत्री हाईवे भूस्खलन से बंद हो गया। मौसम विभाग के मुताबिक बारिश का दौर अभी जारी रहेगा। कुमाऊं में तेज बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

उत्तराखंड में करवट बदलते मौसम से मैदानी क्षेत्रों ने राहत महसूस की, लेकिन पहाड़ी इलाकों में बारिश से नुकसान का सिलसिला जारी है। पिथौरागढ़ में बारिश से एक मकान ध्वस्त हो गया, हालांकि इसमें रहने वाले लोग सुरक्षित हैं।

मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की आशंका है, विशेषकर कुमाऊं में मौसम अग्निपरीक्षा ले सकता है। गढ़वाल में सभी जनपदों के साथ ही कुमाऊं में भी गुरुवार को रुक-रुक कर बारिश हो रही है। उत्तरकाशी में यमुनोत्री हाईवे डाबरकोट के पास भूस्खलन से बंद हो गया। वहीं, गंगोत्री, केदारनाथ, बदरीनाथ, हेमकुंड यात्रा सुचारु है।

मौसम के इस रंग का पर्यटक और तीर्थयात्री लुत्फ उठा रहे हैं। दूसरी ओर कुमाऊं में पिथौरागढ़ जिले में बारिश मुसीबत का सबब बनने लगी है। मुनस्यारी तहसील में जबरदस्त बारिश के दौरान एक मकान ढह गया। हालांकि घर में रहने वाला परिवार पहले ही बाहर निकल गया था।

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक कुमाऊं क्षेत्र में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। गढ़वाल मंडल के अधिकांश क्षेत्रों में गर्जन के साथ बारिश की संभावना है।