दुनिया को अलविदा कह गए राज्य आंदोलनकारी वेद उनियाल

देहरादून : उत्तराखण्ड राज्य आंदोलन के प्रथम पंक्ति के नेता वेद उनियाल का आज दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। उनियाल लंबे समय से बीमार चल रहे थे और राजधानी एक निजी अस्पताल में भर्ती थे। उत्तराखंड आंदोलन से जुड़ी एक और महत्वपूर्ण शख्सियत अब हमारे बीच नहीं रही। उत्तराखण्ड क्रांति दल
 | 

देहरादून : उत्तराखण्ड राज्य आंदोलन के प्रथम पंक्ति के नेता वेद उनियाल का आज दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। उनियाल लंबे समय से बीमार चल रहे थे और राजधानी एक निजी अस्पताल में भर्ती थे।

उत्तराखंड आंदोलन से जुड़ी एक और महत्वपूर्ण शख्सियत अब हमारे बीच नहीं रही।  उत्तराखण्ड क्रांति दल के पूर्व महासचिव और थिंक टैंक के नाम से मशहूर वेद उनियाल का निधन हो गया है। 64 साल के उनियाल अपने पीछे पत्नी महेंद्र कौर को छोड़ गए हैं। अभी 3 साल पहले ही उनके इकलौते पुत्र रवि उनियाल(28) भी इस दुनिया को अलविदा कह गए थे।

वहीं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्य आंदोलनकारी वेद उनियाल के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत की आत्मा की शांति और दुख की इस घड़ी में उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है।

थिंक टैंक वेद उनियाल ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत छात्र रहते हुए कर ली थी। वो डीएवी कॉलेज के महासचिव भी रहे। साथ ही उन्होंने उत्तराखंड आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभार्इ थी। आज भले ही वह इस दुनिया को अलविदा कह गए हों। लेकिन उत्तराखंड आंदोलन में रही उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को राज्यवासी कभी नहीं भुला पाएंगे। जब भी उत्तराखंड के निर्माण के लिए किए गए आंदोलन की यादें ताजा होंगी, उनके योगदान को जरूर याद किया जाएगा।