मौसम विभाग ने पौड़ी नैनीताल चमोली व पिथौरागढ़ जनपद में भारी बारिश की चेतावनी दी है

उत्तराखंड के अधिकांश स्थानों पर रुक-रुककर मेघ बरस रहे हैं। इनमें देहरादून में तो हर दिन बारिश से कई स्थानों पर जल भराव की स्थिति पैदा हो रही है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि पौड़ी, नैनीताल, चमोली व पिथौरागढ़ जनपद में कहीं-कहीं अपेक्षाकृत भारी बारिश हो सकती है। शुक्रवार को गढ़वाल और कुमाऊं के
 | 
मौसम विभाग ने पौड़ी नैनीताल चमोली व पिथौरागढ़ जनपद में भारी बारिश की चेतावनी दी है

उत्तराखंड के अधिकांश स्थानों पर रुक-रुककर मेघ बरस रहे हैं। इनमें देहरादून में तो हर दिन बारिश से कई स्थानों पर जल भराव की स्थिति पैदा हो रही है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि पौड़ी, नैनीताल, चमोली व पिथौरागढ़ जनपद में कहीं-कहीं अपेक्षाकृत भारी बारिश हो सकती है।

शुक्रवार को गढ़वाल और कुमाऊं के अधिकांश इलाकों में आंशिक रूप से बादल छाए रहे। दून के अधिकांश इलाकों में हर दिन बारिश हो रही है। इससे मौसम में ठंडक भी बढ़ने लगी है। वहीं, देहरादून की सड़कों पर बारिश के दौरान जल भराव की स्थिति से लोगों को मुसीबत से भी दो चार होना पड़ रहा है।

गुरुवार को भी मौसम का मिलाजुला असर रहा है। पर्वतीय क्षेत्रों में पूर्वाह्न व अपराह्न को आसमान में बादलों की आमद रही। वहीं शाम ढलते ही कुछ क्षेत्रों में बारिश की बौछार पड़ी। राजधानी देहरादून व आसपास के मैदानी इलाकों में दोपहर बाद आसमान में मेघ गरजे और झमाझम बरसे भी।

हालांकि बाद में मौसम का मिजाज फिर सामान्य हो गया। बारिश के कारण शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति बनी रही। बहरहाल दून में अधिकतम व न्यूनतम तापमान क्रमश: 31.3 व 23.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मसूरी, ऋषिकेश, हरिद्वार, रुड़की, विकासनगर व आसपास के मैदानी इलाकों में भी मौसम का मिजाज लगभग ऐसा ही बना रहा।

मौसम विभाग के मुताबिक अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम गति की बारिश भी हो सकती है। राजधानी देहरादून व आसपास के मैदानी इलाकों में गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है। वहीं, पौड़ी, नैनीताल, चमोली व पिथौरागढ़ जनपद में कहीं-कहीं अपेक्षाकृत भारी बारिश हो सकती है।