Uttarakhand: सरकार ने 27 जुलाई तक कोरोना कर्फ्यू बढ़ाया

 | 
Uttarakhand: सरकार ने 27 जुलाई तक कोरोना कर्फ्यू बढ़ाया है

Uttarakhand: Uttarakhand में कोविड कर्फ्यू एक और हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया है। साथ ही कई रियायतें भी दी गई हैं। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने सरकार के इस फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि अब राज्य के मैदानी क्षेत्रों से पर्वतीय क्षेत्रों में आवाजाही के लिए कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। इसके अलावा राज्य में बाजार खुलने का समय सुबह आठ से रात्रि नौ बजे तक कर दिया गया है।

विवाह समारोह और शवयात्रा में 50 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति रहेगी। जबकि सभी शिक्षण, प्रशिक्षण संस्थान फिलहाल बंद ही रहेंगे। ऑनलाइन कक्षाओं या डिस्टेंस लर्निंग की अनुमति होगी। कोचिंग संस्थान फिलहाल 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही चलेंगे। सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, शैक्षिक, सांस्कृतिक गतिविधियां फिलहाल बंद रहेंगी। सभी जिम 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे।

आपको बता दें कि पहले बाजार खुलने का समय सुबह आठ से शाम सात बजे तक था। इसके अलावा वाटर पार्क, सिनेमाघर, मल्टीप्लेक्स को भी 50 फीसद क्षमता के साथ खोलने की इजाजत दे दी गई है। उन्होंने बताया कि हवाई यातायात में भी छूट दी गई है, जिन व्यक्तियों ने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगा ली हैं, उन्हें हवाई मार्ग से उत्तराखंड आने की अनुमति दी गई है। कोविड कर्फ्यू के शेष प्रविधान वही रहेंगे, जो वर्तमान में लागू हैं।

निगेटिव रिपोर्ट देखने के बाद ही मिला प्रवेश

नैनीताल में बीते सप्ताह के जैसे इस सप्ताह सैलानियों का जमावड़ा नहीं दिखाई दिया। हालांकि रविवार को सैकड़ों सैलानी पहुंचे। रविवार को सैलानियों का नगर के प्रवेश द्वार में कोविड जांच की गई। इसके बाद ही पर्यटकों को शहर में प्रवेश दिया गया।

बता दें नैनीताल में CORONA की दूसरी लहर के बाद हालात सामान्य होने पर पर्यटन कारोबार पटरी पर लौटने लगा था। इस दौरान 20 से 25 हजार सैलानी नैनीताल पहुंचने लगे थे। प्रशासन की सख्ती के बाद इस सप्ताह एकाएक पर्यटकों की आमद कम हो गई है। इसके चलते नगर के तीनों प्रवेश द्वारों नारायण नगर, रूसी बाईपास और पाइंस में वाहनों को नहीं रोका गया। हालांकि कोविड संक्रमण के चलते सभी सैलानियों की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपार्ट देखने के बाद ही प्रवेश दिया गया।

साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग की गई। इधर, वाहनों का दबाव बढ़ने से नगर के मस्जिद तिराहा, माल रोड में आंशिक जाम लगा। बता दें नैनीताल में सैलानियों की आमद में बढ़ोतरी को देखते हुए डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने सप्ताह के अंत में दोपहिया वाहनों पर प्रतिबंध लगाया है। साथ ही पर्यटकों को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी।